Chandrapura पुलिस ने इंजीनियरिंग छात्र को ड्रग्स बेचते पकड़ा

Chandrapura

Chandrapura: चक्रधरपुर, 14 मार्च: झारखंड के चक्रधरपुर जिले में पुलिस ने ड्रग्स के बाजार में एक बड़ी कार्रवाई की है, जिसमें इंजीनियरिंग के एक छात्र को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार छात्र का नाम अभि कुमार है, जो केआईआईटी भुवनेश्वर का छात्र है। पुलिस ने अभि कुमार को 27 पुड़ियों ब्राउन शुगर के साथ पकड़ा है। इस ऑपरेशन में ब्राउन शुगर की कुल 27 पुड़ियां बरामद की गई हैं, जिनकी कीमत 5000 से अधिक है।

Chandrapura: पुलिस के अनुसार

पुलिस को मिली गुप्त सूचना के आधार पर चक्रधरपुर में ब्राउन शुगर के बाजार में गतिविधि कर रहे युवक को गिरफ्तार करने के लिए ऑपरेशन किया गया। पुलिस की तरफ से की गई त्वरित कार्रवाई के बाद अभि कुमार को ब्राउन शुगर के साथ पकड़ा गया। उसके पास से 27 पुड़ियां बरामद की गईं जो खैनी के पैकेट में छुपी हुई थीं।

छुपाकर रखी गई ड्रग्स

Chandrapura: पुलिस के अनुसार, अभि कुमार ने ब्राउन शुगर की पुड़ियों को खैनी के पैकेट में छुपाकर रखी थीं। इसका मकसद यह था कि उसकी गतिविधि का पता ना चले। बता दें कि ब्राउन शुगर की पुड़ियां लगभग दो ग्राम की थीं और उनकी बाजार मूल्य 5000 रुपये से भी अधिक बताई जा रही है।

Chandrapura: प्रवासी छात्र का अनुभव

अभि कुमार वर्तमान में छुट्टियों के दौरान अपने घर आया हुआ था। उसके परिवारवालों ने बताया कि उसे फीस जमा करने के लिए पैसे दिए गए थे लेकिन उसके पास ड्रग्स कहां से आए, यह उन्हें भी पता नहीं था।

पुलिस की कार्रवाई

Chandrapura: चक्रधरपुर पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए अभि कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अब उससे ड्रग्स के बाजार में शामिल अन्य लोगों की जानकारी प्राप्त करने के लिए पूछताछ कर रही है।

Chandrapura: नशे का धंधा बढ़ता जा रहा है

चक्रधरपुर में बढ़ते नशे के गिरोह की वजह से जिला प्रशासन और पुलिस परेशान हैं। युवा वर्ग के बीच गांजा, ब्राउन शुगर, और अन्य ड्रग्स का उपयोग बढ़ रहा है, जिससे समाज में नकारात्मक प्रभाव पैदा हो रहा है।

समाप्ति

Chandrapura: इस ऑपरेशन के बाद पुलिस ने ब्राउन शुगर के साथ गिरफ्तार किए गए अभि कुमार को चक्रधरपुर थाना में ले जाया है और उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है। समाज को नशे के खिलाफ जागरूक करने के लिए पुलिस नई नीतियों और कदमों की ओर बढ़ रही है ताकि इस महसूस की जा सके कि ये खतरनाक प्रवृत्तियां किसी के लिए भी सुरक्षित नहीं हैं।

ये भी पढ़ें: cyber crime राम मंदिर के नाम पर साइबर अपराधियों का नया तरीका

YOUTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *