christmas in ranchi: राजधानी रांची में क्रिसमस की धूम

christmas in ranchi

christmas in ranchi: रांची में क्रिसमस का त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। शहर के कई इलाकों में क्रिसमस गैदरिंग का आयोजन किया जा रहा है। इन गैदरिंग में लोग एक साथ मिलकर क्रिसमस के गीत गाते हैं और ईसा मसीह के जन्म का जश्न मनाते हैं।

christmas in ranchi: जीइएल चर्च सेंट्रल काउंसिल की क्रिसमस गैदरिंग

रांची के जीइएल चर्च सेंट्रल काउंसिल में क्रिसमस गैदरिंग का आयोजन किया गया। इस गैदरिंग में मुख्य अतिथि डिप्टी मोडरेटर जोसफ सांगा थे। उन्होंने कहा कि बालक यीशु के जन्म के संबंध में गड़ेरियों को संदेश सुनाया गया था कि तुम्हें डरने की जरूरत नहीं है। यह बड़े आनंद का समाचार है।

स्पर्श व आवेग बैंड ने लाइव परफॉर्मेंस दिया

christmas in ranchi: लोयला मैदान के मेला व क्रिसमस गैदरिंग में गुरुवार को स्पर्श व आवेग बैंड ने परफॉरमेंस से युवाओं में खासा उत्साह भर दिया। स्पर्श बैंड ने अंग्रेजी कैराल ‘जिंगल बेल जिंगल बेल …, मेरीज बॉय चाइल्ड जीसस क्राइस्ट वॉज बोर्न ऑन क्रिसमस डे… आदि पेश किए। आवेग बैंड ने नागपुरी क्रिसमस गीत ‘शीत पानी झराय…’, ‘चरनी के ऊपरे का तारा का तारा टिम टिम चमकेला … से लोगों के कदमों को थिरकने पर विवश कर दिया।

बार भवन में क्रिसमस गैदरिंग का हुआ आयोजन

बार भवन में गुरुवार को क्रिसमस गैदरिंग हुई। महिला व पुरुष अधिवक्ताओं ने कैरोल गाकर न्यायायुक्त एके रॉय, न्यायिक पदाधिकारी व अधिवक्ताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। अध्यक्षता संजय विद्रोही ने की। मौके पर जिला बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष शंभु अग्रवाल, उपाध्यक्ष बीके रॉय, कोषाध्यक्ष मुकेश केसरी, पवन खत्री, दीनदयाल, वीरेंद्र प्रताप, शोषण नाग, रामकृष्ण, संजय तिवारी मौजूद थे।

christmas in ranchi: एनडब्ल्यूजीइएल चर्च में क्रिसमस गैदरिंग

christmas in ranchi: एनडब्ल्यूजीइएल चर्च के सिनोड कार्यालय, गोस्सनर कंपाउंड में क्रिसमस गैदरिंग हुई। भला चला जाब झुमी झुमी के बैतुलहम गांव देखेक ले… जैसे गीत गूंज उठे। आर्चबिशप राजीव सतीश टोप्पो ने कहा कि बाइबल के अनुसार परमेश्वर ने जगत से ऐसा प्रेम किया कि उन्होंने अपना इकलौता पुत्र दे दिया, ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे वह नाश न हो। वह अनंत जीवन पाये। उन्होंने कहा कि यह आनंद हर व्यक्ति के लिए है। यीशु के उद्धार का मार्ग सबके लिए खुला हुआ है। लोगों का जन्म जीने के लिए होता है, लेकिन ईसा मसीह ने मरने के लिए जन्म लिया। लेकिन उनकी मृत्यु के द्वारा ही हमें उद्धार मिला है। यीशु से हमें न सिर्फ जीवन मिलता है, बल्कि बहुतायत का जीवन मिलता है। इससे पूर्व बिशप निस्तार कुजूर ने भी संदेश दिया। इस अवसर पर जोलजस कुजूर, फिलिप तिर्की, डॉ जेपी मिंज, अलबेल लकड़ा, धनकुमार बखला, रेव्ह असफ तिग्गा, एलम बेक, रेव्ह नीलम तिग्गा, रेव्ह शशि मिंज, रेव्ह यीशु नासरी मिंज, सोलोमन एक्का, प्रेम तिर्की आदि मौजूद थे।

ये भी पढ़ें: bharat band: रेलवे ट्रैक पर बम विस्फोट, भारत बंद का असर

YOUTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *