cyber fraud: बेरोजगारों को धोखे में डालने का नया तकता

cyber fraud

cyber fraud: बेरोजगारों को धोखे में डालने का नया तकता

साइबर ठगी: बेरोजगारों को धोखे में डालने का नया तकता

चतरा, मो. तसलीम: नौकरी की तलाश में बेरोजगारों को अब साइबर ठगों ने धोखे में डालने का प्रयास शुरू कर दिया है। ये अपराधी विभिन्न नंबरों से कॉल कर, खुद को चतरा डीसी ऑफिस का डाटा ऑपरेटर बता रहे हैं। लोगों ने इस सूचना के बारे में जानकर डीसी से मांगी गई राशि का भुगतान नहीं करने की सलाह दी है।

cyber fraud: साइबर ठगी का मोड़

रोजगार की कमी में लोगों की बढ़ती चिंता का फायदा उठाते हुए, साइबर अपराधी अब नौकरी के नाम पर बेरोजगारों को धोखे में डालने का प्रयास कर रहे हैं। इन अपराधियों ने अलग-अलग मोबाइल नंबरों से कॉल कर, खुद को डीसी ऑफिस चतरा के डाटा ऑपरेटर बताया है।

ठगों की मांग

cyber fraud: यह साइबर ठगी का मोड़ है कि अभ्यर्थियों से फोन पर मिलकर उन्हें नौकरी दिलाने का दावा कर, पैसे की मांग कर रहे हैं। पैसा नहीं देने पर उन्होंने धमकी दी है कि उनका नाम मेरिट लिस्ट से हटा दिया जाएगा। ये ठग अभ्यर्थियों से 40 हजार से लेकर 20 हजार रुपये तक की मांग कर रहे हैं।

धमकियाँ और झांसा

ठगों ने अभ्यर्थियों को फोन कर, मेरिट लिस्ट में सेलेक्ट करने का झांसा देकर पैसा मांगा है। इसके बाद कहा जा रहा है कि आज ही मेरिट लिस्ट बनेगी और जारी की जाएगी। अभ्यर्थी से 15 हजार पहले और 15 हजार ज्वाइनिंग के बाद देने को कहा जा रहा है, जिसे ऑनलाइन माध्यम से देना होगा। ठगों ने अभ्यर्थियों को धमकियाँ दी हैं कि यदि पैसा नहीं मिला तो उनका नाम मेरिट लिस्ट से हटा दिया जाएगा।

cyber fraud: डीसी का जवाब

cyber fraud: डीसी सह जिला कार्यक्रम समन्वयक, उत्कर्ष गुप्ता ने इस पर प्रतिक्रिया दी है कि ऐसी सूचना प्राप्त हो रही है और साइबर ठगों द्वारा अभ्यर्थियों से फोन पर पैसे की मांग की जा रही है। उन्होंने अभ्यर्थियों से कहा है कि पैसा मांगा जाने पर तुरंत सूचना दें, ताकि उपयुक्त कार्रवाई की जा सके।

इस घड़ी में, लोगों को सतर्क रहना और ऐसी ठगी से बचने के लिए अपनी जानकारी को सावधानीपूर्वक साझा करना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

ये भी पढ़ें: Abhishek Srivastava की हत्या, कोयला व्यवसायी को मारी गोली

YOUTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *