gumla police: पुलिस की करवाई से गाँववाले परेशान

gumla police

gumla police: झारखंड के गुमला जिले में हुए नक्सली हमले के बाद, गुमला पुलिस ने गाँववालों को थाना में पूछताछ के लिए बुलाया है, जिससे ग्रामीणों की आपत्ति बढ़ी है। नक्सलियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन भी जारी है, जिसमें कई लोगों को हिरासत में लिया गया है। इस हमले के बाद गाँववालों ने पुलिस को बेवजह इनोसेंट लोगों को परेशान करने का आरोप लगाया है।

gumla police: नक्सली हमला का असर

आठ जनवरी की रात को नक्सली सेना ने सतकोनवा में सात वाहनों को आगजनी कर दिया, जिससे इस क्षेत्र में भयानक महौल बन गया। पुलिस ने तत्पश्चात कार्रवाई की और सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

गाँववालों का आरोप

gumla police: गाँववालों के अनुसार, पुलिस ने कई दिनों से उनके परिजनों को बिना किसी साबूत के प्रताड़ित किया है। उनका कहना ​​है कि पुलिस ने इनोसेंट मजदूरों को बिना किसी आपत्ति के हिरासत में लिया है। उनके अनुसार, पुलिस ने बिना सुनवाई के ही लोगों को पकड़ लिया है, जिससे ग्रामीणों में आपत्ति बढ़ी है।

gumla police: सर्च ऑपरेशन में लोगों की हिरासत

पुलिस ने सर्च ऑपरेशन के दौरान कई लोगों को हिरासत में लिया है, जिससे गाँववालों की आपत्ति बढ़ी है। गाँववालों का कहना ​​है कि वे निर्दोष हैं और उन्हें बिना साबूत के हिरासत में नहीं लिया जाना चाहिए।

गुमला जेनरल कामगार यूनियन का आपत्तिजनक आरोप

गुमला जेनरल कामगार यूनियन ने इस पूरे मामले पर आपत्तिजनक आरोप लगाते हुए कहा है कि खनन कंपनी के इशारे पर पुलिस अपने हक की मांग करने वाले मजदूरों को बेवजह परेशान कर रही है। उन्होंने पुलिस की गुहार लगाते हुए न्याय की मांग की है और माइंस क्षेत्र की गुंडागर्दी की जांच को राष्ट्रीय जांच एजेंसी से कराने की मांग की है।

इस पूरे मामले में गाँववालों की आपत्ति बढ़ी हुई है और वे चाहते हैं कि इस मुद्दे पर त्वरित रूप से कार्रवाई हो। उनका कहना ​​है कि निर्दोष लोगों को बेवजह पकड़ कर परेशान नहीं किया जाना चाहिए।

gumla police: इस खबर का सारांश

gumla police: गुमला में नक्सली हमले के बाद, पुलिस की कठिनाईयों में ग्रामीणों को थाना में पूछताछ के लिए बुलाया गया है, जिससे उनकी आपत्ति बढ़ी है। गुमला जेनरल कामगार यूनियन ने पुलिस पर आपत्तिजनक आरोप लगाते हुए न्याय की मांग की है और गुंडागर्दी की जांच को राष्ट्रीय जांच एजेंसी से कराने की मांग की है।

ये भी पढ़ें: jharkhand petrol price: झारखंड में पेट्रोल और डीजल की कीमतें

YOUTUBE

One thought on “gumla police: पुलिस की करवाई से गाँववाले परेशान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *