Jharkhand Laborers:झारखंड श्रमिकों को उत्तराखंड टनल में संकट

Jharkhand Laborers

Jharkhand Laborers: झारखंड सरकार ने उत्तराखंड के उत्तरकाशी में सिल्क्यारा और डंडलगांव के बीच निर्माणाधीन टनल में फंसे झारखंड के श्रमिकों के परिजनों को सुरक्षित सुविधाएं प्रदान करने का आदेश दिया है। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के निर्देशानुसार, उपायुक्त और प्रशासनिक अधिकारियों ने उत्तराखंड में फंसे श्रमिकों के परिजनों के साथ बातचीत की है और उन्हें हर समर्थन उपलब्ध कराने का संकल्प किया है।

Jharkhand Laborers: बचाव एवं सहारा

  1. श्रमिकों की सुरक्षा: टनल में फंसे झारखंड के सभी 15 श्रमिकों की सुरक्षित स्थिति की गई है। उन्हें सभी आवश्यक सुरक्षा उपायों के साथ निकाला जा रहा है।
  2. श्रमिकों के परिजनों के लिए सुविधा: उपायुक्त और प्रशासनिक अधिकारियों ने श्रमिकों के परिजनों के लिए रहने, भोजन, जैकेट, टोपी और कंबल की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है।
  3. संपर्क एवं जानकारी: प्रवासी नियंत्रण कक्ष ने श्रमिकों के परिजनों से लगातार संपर्क में रहा है और उन्हें ताजगी से घटनास्थल की जानकारी प्रदान की जा रही है।

Jharkhand Laborers: मुख्यमंत्री के संकल्प

  1. उच्च श्रेणी के कीवर्ड्स: समाचार को गूगल पर शीर्ष पर रखने के लिए यथासंभाव उच्च श्रेणी के कीवर्ड्स का उपयोग किया जा रहा है।
  2. प्रदेश की सतर्कता: झारखंड सरकार ने इस घटना पर सतर्कता बनाए रखने का संकल्प लिया है और सभी आवश्यक कदम उठा रही है।

Jharkhand Laborers: जिला-जिला सम्बंधित आधिकारिकों का समर्थन

  1. स्थानीय प्रशासन: स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों को उपायुक्त की अगुवाई में समर्थन प्रदान किया जा रहा है ताकि वे श्रमिकों के परिजनों के साथ संपर्क में रह सकें और समस्याओं का तत्पर निराकरण कर सकें।
  2. आपातकालीन कदम: सभी आवश्यक आपातकालीन कदमों की गहराई से जांच करने के लिए जिला-जिला सम्बंधित आधिकारिकों को समर्थन दिया जा रहा है।

Jharkhand Laborers: नेतृत्व में सुधार

  1. प्रभावी नेतृत्व: मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने नेतृत्व के माध्यम से इस स्थिति का सुधार करने का आदान-प्रदान किया है और सरकारी उपाधियों को सक्रियता और संबंधित क्षेत्रों में नेतृत्व का दिखाने का निर्देश दिया है।

समाप्ति

Jharkhand Laborers: झारखंड सरकार का यह प्रयास है कि उत्तराखंड में फंसे झारखंड के श्रमिकों के परिजनों को सभी सुविधाएं प्रदान की जाएं और उनकी सुरक्षा हर संभाव कदम से सुनिश्चित की जाए। इस समय की चुनौतियों का सामना करने के लिए सरकार ने सक्रियता और प्रभावीता के साथ संबंधित अधिकारियों को नेतृत्व दिखाने का निर्देश दिया है। यह सुनिश्चित करने में मदद करेगा कि समस्याएं त्वरित रूप से हल हों और प्रशासन की सकारात्मक भूमिका में सुधार हो।

ये भी पढ़ें: साहिबगंज में ‘aapki sarkar aapke dwar’ का शुभारंभ

YOUTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *