jharkhand railway: रेलवे में आक्रोश झारखंड में 2 घंटे तक जाम

jharkhand railway

jharkhand railway: झारखंड के चक्रधरपुर रेल मंडल में शुक्रवार को हावड़ा-मुंबई रूट को लेकर यात्रीगण का आक्रोश उभरा है। दिनभर जहां-तहां ट्रेनों को बेवजह रोकने के परिणामस्वरूप लोगों ने हावड़ा-मुंबई रूट पर दो घंटे तक जाम कर दिया। इसके बारे में हम यहां विस्तार से जानेंगे।

jharkhand railway: जाम का कारण

सुबह के समय, यशपुर रेलवे फाटक के पास, गम्हरिया थाना क्षेत्र में ट्रेनों को बेवजह रोका जा रहा था, जिससे यात्रीगण अत्यधिक परेशान थे। इससे उनमें आक्रोश बढ़ गया और वे रेल पटरी पर बैठकर प्रतिभागीता दिखा रहे थे। लोग चाहते थे कि लोकल ट्रेनें समय पर चलें, जिससे उनकी दिनचर्या पर कोई असर ना पड़े।

पुलिस की कोशिश

jharkhand railway: रेल पुलिस के कुछ जवान मौके पर पहुंचे और यात्रीगण को समझाने का प्रयास किया। पुलिस के प्रयासों के बावजूद, यात्रीगण ने पुलिस की बात मानने का इरादा नहीं किया और ट्रेनों को रोकने का कार्य जारी रखा।

jharkhand railway: आरपीएफ का सहयोग

डेढ़ घंटे बाद, आरपीएफ के पदाधिकारी सीनी, आदित्यपुर, और कांड्रा मौके पर पहुंचे। इन्होंने सख्ती बरती और यात्रीगण से सहयोग की अपील की। यहां मौजूद लोगों ने उनकी बातों को सुनते हुए खुद ही रेल पटरी खाली कर दी, जिससे ट्रेनों का परिचालन फिर से शुरू हो सका। इसके बाद, करीब दो घंटे तक जाम बना रहा था।

यात्रीगण की मांग

jharkhand railway: यात्रीगण ने अपनी आवाज को बुलंद करते हुए मांग रखी है कि लोकल ट्रेनें समय पर चलाई जाएं ताकि उनकी यात्रा में कोई असुविधा ना हो। उनका कहना ​​है कि अगर इस परिस्थिति में सुरक्षा की बढ़ाई जाए तो यह उचित होगा, लेकिन ट्रेनों को बेवजह रोकना अनुचित है।

संक्षेप

jharkhand railway: झारखंड में हावड़ा-मुंबई रूट पर यात्रीगण का आक्रोश दिखाता है कि लोकल ट्रेनें समय पर चलाई जाएं ताकि उनकी यात्रा में कोई असुविधा ना हो। रेलवे और सरकार से उनकी आशा है कि उचित उपायों को अपनाकर इस समस्या का समाधान किया जाए।

ये भी पढ़ें: jharkhand vidhan sabha: 1000 पुलिसकर्मी सुरक्षा में तैनात

YOUTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *