बिरसा मुंडा (Birsa Munda)के जन्मदिन पर खूंटी से IEC वैन रवाना करेंगे मोदी

Birsa Munda

रांची: 27 अक्टूबर : प्रधानमंत्री मोदी 15 नवंबर को भगवान बिरसा (Birsa Munda) मुंडा के जन्मदिन के मौके पर उन्हें नमन करने उनकी जन्मस्थली खूंटी आएंगे। जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस मौके पर जनजातीय समुदाय के लिए कई योजनाएं भी शुरू करने की घोषणा कर सकते हैं। बता दें कि पिछले दो वर्षों से पूरा देश बिरसा मुंडा की जयंती को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाता है। प्रधानमंत्री का यह दौरा आनेवाले चुनावों के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

वहीं भगवान बिरसा मुंडा (Birsa Munda) की जयंती के मौके पर खूंटी से प्रधानमंत्री मोदी पहली iec van रवाना करेंगे । अब तक आपने इस तरह की राजनीतिक संकल्प यात्राओं में ‘रथ’ शब्द का नाम सुना होगा, लेकिन इस बार राजनीतिक विवाद को देखते हुए केन्द्र सरकार की विकसित भारत संकल्प यात्रा में रथ यात्रा शब्द का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा । इसके बदले आईईसी यानि सूचना, शिक्षा और संचार वैन (IEC – Information, Education And Communication Van) कहा जाएगा । ये आइईसी वैन पांच चुनावी राज्यों में आचार संहिता लागू होने तक नहीं जाएगी ।

modi in jharkhand

केन्द्रीय सूचना प्रसारण सचिव अपूर्व चंद्रा ने इसे अगले चुनावों से जोड़े जाने को गलत बताते हुए अनौपचारिक बातचीत में कहा कि अहम योजनाओं के फायदे लोगों तक पहुंचाने के लिए ये एक सरकारी कार्यक्रम है । इसका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है । 2047 के विकसित भारत के संकल्प को पूरा करने के लिए सभी योजनाओं का, सभी तक पहुंचना ज़रूरी है। इसके मद्देनज़र 2,500 वैन के ज़रिए 2.55 लाख ग्राम पंचायतों औऱ 200 वैन के ज़रिए करीब 3,700 शहरी निकायों में विकसित भारत संकल्प यात्रा पहुंचेगी । आदिवासी गौरव दिवस के दिन भगवान बिरसा मुंडा की जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी विकसित भारत संकल्प यात्रा की शुरूआत करेंगे ।

आपको बता दें पिछले वर्ष राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने 15 नवंबर को उलिहातू का दौरा किया था। उन्होंने भगवान बिरसा मुंडा (Birsa Munda) के वंशजों से मुलाकात की थी और उन्हें उपहार दिए थे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अक्सर अपने संबोधन में भगवान बिरसा मुंडा (Birsa Munda) का जिक्र करना नहीं भूलते। पिछले दो वर्षों से पूरा देश बिरसा मुंडा की जयंती को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाता है। 15 नवंबर को झारखंड का स्थापना दिवस भी है। राज्यस्तर पर इसे धूमधाम से मनाने की तैयारियां की गई हैं।

ये भी पढ़ें: ‘न्यूटन’ बने निर्वाचन आयोग के national icon।अब निभानी होगी ये ज़िम्मेदारी।

YOUTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *