rabindranath jayanti special : रवीन्द्रनाथ जयंती विशेष

rabindranath jayanti special
rabindranath jayanti special

rabindranath jayanti special

कहीं भी दिख जाते हो तो
लगता है कि
पुकार रहे हो मुझे

अनायास ही नत मस्तक हो जाते हैं
मेरे मन के सारे मनोभाव

सुनाई देने लगती है
धीमी धीमी धुन में बजती कोई रागिनी
अंतर्मन में

” जोदि तोर डाक शुने केउ न आशे
तबे एकला चलो रे “

दूर होने लगती है सारी निराशा

भर जाता है मन में उत्साह
तुम्हारी ओजस्वी वाणी से

तुम्हें निवेदित करके प्रणाम
चल पड़ता हूं
तुम्हारी डाक सुनकर

उस दिशा में
जहां उगे हो तुम
ध्रुव तारे की तरह
दिखाते हुए अध्यात्मिक मानवता की राह

दिशाहारा… सारी मनुजता को

तुम्हारी गीतांजलि से ही
उधार लिए हैं जो शब्द
उन्हीं की शब्दांजलि
कर रहा अर्पित गुरुदेव तुम्हें

कोटिश नमन तुम्हारा !

” शैलेश “

rabindranath jayanti special

rabindranath jayanti special : आज रवींद्रनाथ टैगोर की 162वीं जयंती है, जिसे पूरे देश में मनाया जा रहा है। लेकिन कई संगठन रवींद्रनाथ जी की जयंती 7 मई को भी मनाते हैं । दरअसल ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार रवींद्रनाथ टैगोर का जन्मदिन 7 मई 1861 को हुआ था, लेकिन पश्चिम बंगाल में रवींद्रनाथ टैगोर का जन्मदिन बंगाली माह के पंचीशे बोशाख को दिन मनाया जाता है। पारंपरिक बंगाली कैलेंडर के अनुसार रवींद्रनाथ टैगोर का जन्म 9 मई को हुआ था यानि बंगाली कैलेंडर के अनुसार रवींद्रनाथ बोईशाख माह के 25 दिन पैदा हुए थे।

rabindranath jayanti special : विश्वविख्यात कवि, साहित्यकार, दार्शनिक और भारतीय साहित्य के नोबल पुरस्कार विजेता रवीन्द्रनाथ टैगोर, गुरुदेव के नाम से भी जाने जाते हैं। बांग्ला साहित्य के माध्यम से भारतीय सांस्कृतिक चेतना में नयी जान फूँकने वाले युगदृष्टा थे। गुरुदेव एशिया के प्रथम नोबेल पुरस्कार सम्मानित व्यक्ति हैं।

अबुआ बिहार झारखंड की ओर से रवीन्द्रनाथ टैगोर की जयंती पर नमन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *