ranka jharkhand: झारखंड में जेजेएमपी और पुलिस के बीच मुठभेड़

ranka-jharkhand

ranka jharkhand: झारखंड के गढ़वा जिले के रंका थाना क्षेत्र में जेजेएमपी और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में दो नक्सलियों को गोली लगी है। रंका थाना प्रभारी शंकर प्रसाद कुशवाहा भी घायल हुए हैं। पुलिस का दावा है कि मुठभेड़ में एक नक्सली मारा गया है।

ranka jharkhand: मुठभेड़ का वर्णन

झारखंड के गढ़वा जिले के रंका थाना क्षेत्र के ढेंगुरा जंगल में सोमवार रात करीब 11:30 बजे जेजेएमपी और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ करीब 4 घंटे तक चली।

बताया जाता है कि पुलिस को सूचना मिली थी कि जेजेएमपी का एरिया कमांडर टुनेश उरांव अपने दस्ते के साथ इस इलाके में आने वाला है। इसी सूचना के आधार पर पुलिस ने उग्रवादियों की गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाया था।

जंगल में दाखिल होते ही उग्रवादियों ने पुलिस को देख लिया और उन पर गोलियां चलानी शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी।

दोनों ओर से रात भर फायरिंग होती रही। इसमें रंका थाना प्रभारी शंकर प्रसाद कुशवाहा को गोली लग गई। उन्हें रांची के मेडिका अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

मुठभेड़ में दो नक्सलियों को गोली लगी है। पुलिस का दावा है कि एक नक्सली मारा गया है। हालांकि, इसकी पुष्टि अभी नहीं हो पाई है।

ranka jharkhand: सर्च ऑपरेशन जारी

मुठभेड़ के बाद इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। इसमें रंका, चिनिया और रमकंडा की पुलिस के अलावा जगुआर के जवान भी शामिल हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जंगल की चट्टानों पर गोलियों के निशान देखे जा सकते हैं। एक चट्टान पर कम से कम सात गोलियों को निशान देखे गए हैं।

नक्सलियों की गतिविधियों पर अंकुश

ranka jharkhand: झारखंड सरकार नक्सलियों की गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। इस मुठभेड़ से सरकार के प्रयासों को बल मिला है।

निष्कर्ष

ranka jharkhand: झारखंड के गढ़वा जिले में जेजेएमपी और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ एक महत्वपूर्ण घटना है। इस मुठभेड़ से सरकार के नक्सलियों के खिलाफ अभियान को बल मिला है।

ये भी पढ़ें: PanduPudding में डूबने से कोचिंग संचालक की मौत, दो छात्र बचे

YOUTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *