Sukhdev Singh Gogamedi नेता सुखदेव सिंह की हत्या, 3 गिरफ्तार

Sukhdev Singh Gogamedi

हरियाणा से तीन गिरफ्तार, राजस्थान के सेना नेता Sukhdev Singh Gogamedi की बेरहमी से हत्या में शामिल दो शूटर्स

दिल्ली और राजस्थान पुलिस के संयुक्त कार्यवाही से चंडीगढ़ से शाम को रोहित राठौड़ और नितिन फौजी (Sukhdev Singh Gogamedi) जैसे दो शूटर्स समेत तीन लोग हरियाणा से गिरफ्तार किए गए हैं, जिनका संदिग्ध हत्या में सीना नेता सुखदेव सिंह गोगामेड़ी का शामिल होना आरोपी बताया जा रहा है।

मुख्य बिंदुएं:

  1. शूटर्स की गिरफ्तारी: रोहित राठौड़ और नितिन फौजी को दिल्ली और राजस्थान पुलिस की संयुक्त कार्यवाही में चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया गया है।
  2. राजपूत नेता की हत्या: सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की बेरहमी से हत्या का पूरा विवरण और आरोपी गैंगस्टर का बयान।
  3. हत्या के पीछे की वजह: गोगामेड़ी की हत्या के पीछे की वजह और आरोपी का मोबाइल ट्रैकिंग।
  4. पुलिस के खुलासे: गिरफ्तारी से पहले शूटर्स की छवियों की शोध, और उनकी भगदड़ का संस्करण।

Sukhdev Singh Gogamedi हत्या का पूरा सच

राजस्थान के सेना नेता सुखदेव सिंह गोगामेड़ी (Sukhdev Singh Gogamedi) की बेरहमी से हत्या के बाद तीनों गिरफ्तारों की खोज में पुलिस ने सफलता प्राप्त की है। रोहित राठौड़ और नितिन फौजी, दो शूटर्स, को दिल्ली और राजस्थान पुलिस के संयुक्त कार्यवाही के बाद चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया गया। इसके साथ ही, उनके साथ थे एक और साथी उधम सिंह, जो भी गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तारी की खोज में पुलिस

पुलिस ने अब तक इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें एक गैंगस्टर रामवीर जाट भी शामिल है, जिन्होंने शूटर्स – रोहित और नितिन को गोगामेड़ी के घर से फरार कराने में मदद की थी।

गैंगस्टरों का गुल्दस्ता

गैंगस्टर रोहित गोदारा, जो गोल्डी ब्रार और लॉरें्स बिश्नोई से जुड़ा हुआ है, ने मुर्दार के सीना नेता (Sukhdev Singh Gogamedi) की हत्या का जिम्मेदारी लिया है। गोदारा ने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि गोगामेड़ी उनके दुश्मनों की मदद कर रहे थे, जिससे हमला हुआ।

शूटर्स की पुलिस से बातचीत

पुलिस ने बताया है कि शूटर्स गोगामेड़ी (Sukhdev Singh Gogamedi) की हत्या के बाद गोदारा के साथी वीरेंद्र चौहान के साथ सम्पर्क में रहे थे।

शूटर्स ने बताया है कि वे पहले हिसार गए, फिर उधम सिंह के साथ मनाली गए, और फिर एक दिन के लिए मंडी में रुके। मंडी से, तीनों लोग चंडीगढ़ आए, जहां उन्हें गिरफ्तार किया गया।

यह राजपूत नेता की सनसनीखेज हत्या, CCTV कैमरों पर कैद, ने राजस्थान में विरोध पैदा किया है, जो हाल ही में विधानसभा चुनावों में कांग्रेस सरकार से बीजेपी ने शक्ति हासिल की है। पुलिस ने शूटर्स को ढूंढने के लिए कई टीमें बनाई थीं और उन्होंने उनकी गिरफ्तारी के लिए ₹ 5 लाख का पुरस्कार भी घोषित किया था।

ये भी पढ़ें: Mai Bhi Kejriwal: AAP का ‘मैं भी केजरीवाल’ सिग्नेचर अभियान

YOUTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *