uttarkashi tunnel news in hindi: 41 मजदूरों को सफलतापूर्वक बचाया गया

uttarkashi tunnel news in hindi

uttarkashi tunnel news in hindi: उत्तरकाशी जिले की सिलकियाड़ा सुरंग में फंसे हुए 41 मजदूरों को बुधवार शाम को सफलतापूर्वक बचाया गया, जिन्होंने 400 घंटे के अधिक समय तक अंधकार में फंसे रहकर यहां से बाहर निकलने की कठिनाई का सामना किया। इस सफल बचाव कार्यक्रम के बाद, मजदूरों के परिवार और पूरा देश खुशी मना रहा है, जिससे दुनिया का ध्यान इस बचाव अभियान पर आया था।

एक बचाए गए मजदूर ने उत्साहित होकर सूची से “तालिका” दिखाई और अधिकारियों को धन्यवाद दिया, जैसे ही उन्हें सुरंग से बाहर निकाला गया।

बचाव कार्यक्रम की चुनौतियों का सामना

uttarkashi tunnel news in hindi: बचाव कार्यक्रम की अंतिम चरण में, तकनीकी बाधाएँ कारणों से देरी हो गई थीं। इस समस्या का समाधान करने के लिए, लगभग एक दर्जन बचावकर्ता ने सोमवार से मंगलवार रात में हैंड-हेल्ड ड्रिलिंग टूल्स का उपयोग करके चट्टानों और कचरे के माध्यम से छिद्रण किया। अधिक आधुनिक उपकरण गिर गए तब अधिकारी ने कुछ कर्मचारियों को रैट-होल माइनिंग का सहारा लेने पर मजबूर किया।

uttarkashi tunnel news in hindi: बचाए गए मजदूरों की अनुभव कथा

सफल बचाव कार्यक्रम के एक दिन बाद, बचाए गए मजदूरों ने अपने अनुभवों का वर्णन किया। मजदूरों में से एक को सुबोध कुमार वर्मा ने कहा कि पहले 24 घंटे मुश्किल थे। दूसरे मजदूर ने कहा कि उन्होंने समझ लिया कि उनका सुरंग से बाहर निकलने का रास्ता बंद हो गया था। “हमें पहले 10-12 घंटे के लिए कुछ कठिनाइयां आईं, लेकिन फिर हमें खाना पानी के पाइप के माध्यम से प्रबुद्ध किया गया। फिर 10 दिनों के बाद, खाने के लिए एक और पाइप आया। हमें सारे खाद्य अदान-प्रदान मिला, चावल, दाल, रोटी, सूखे मेवा,” उन्होंने कहा।

इसके बीच, अधिकारियों ने कहा कि सभी मजदूर “अच्छे स्वास्थ्य” में हैं।

पीएम मोदी ने बचाए गए मजदूरों से बातचीत की

uttarkashi tunnel news in hindi: मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बचाए गए मजदूरों से कॉल पर बातचीत की। उन्हें उनकी लड़ाई के लिए बधाई देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 17 दिन “संक्षेप में नहीं होते” और यह अद्वितीय है कि मजदूर निराशा नहीं होने दिए।

“हमें केदारनाथ, बद्रीनाथ का आशीर्वाद है। कुछ अपवाद होते, मैं बता नहीं सकता कि हम कैसे लेते। आप ने उदाहरणीय साहस दिखाया है… आपने संकट के बीच एक दूसरे का साथ निभाया है। इस तरह की स्थिति में कभी-कभी थोड़ी टू टू-मैन मैन हो जाना सामान्य है। यह रेलवे कंपार्टमेंट में भी होता है। लेकिन आप सभी एकजुट रहे हैं,” पीएम मोदी ने कहा।

ये भी पढ़ें: uttarkashi news: टनल में फंसे 41 मजदूरों के सामने आए चित्र

YOUTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *